नवका- पुरनका लेख सर्च करु...

काज किछ बढ़ल...

दिल्ली में मिथिला अकादमी बनयबाक काज आगा बढ़ि रहल अछि. अकादमी जल्द स जल्द बनय एकरा लेल अखिल भारतीय मिथिला संघक पदाधिकारीगण चारि तारीख के दिल्ली के मुख्यमंत्री शीला दीक्षित सं भेंट कएलथिन्ह. मुख्यमंत्री सं भेंट में 25 नवंबर के दिल्ली में मिथिला विभूति स्मृति पर्व समारोह में उठल मुद्दा पर चर्चा कएल गेल. मुख्यमंत्रीजी ई भरोसा देलथिन्ह जे एहि दिशा में जोर शोर सं काज चलि रहल अछि आ अगला हफ्ता दस दिन में किछ ठोस नतीजा सेहो निकलत. ओ एहि बात पर विशेष जोर देलखिन्ह जे दिल्ली में अहांक मिथिला अकादमी जरूर बनत आओर एहि लेल जे जरूरी कदम होएत ओकरा उठावल जाएत. श्रीमती दीक्षित ईहो कहलथिन्ह जे ओ ललित बाबू के नाम पर सड़कक नाम राखल जाय एहि कोशिश में लागल छथिन्ह. एहि पर अखिल भारतीय मिथिला संघ के महासचिव विजय चन्द्र झा जी हुनका एकटा विकल्प सेहो देलखिन्ह. झा जी हुनका कहलथिन्ह जे सुनहरी बाग रोडक नाम ललित बाबू के नाम पर कएल जा सकय अ. मुख्यमंत्रीजी एहि पर विचार करय ते आश्वासन देलखिन्ह.
ओना त कइटा मुद्दा पर चर्चा भेल मुदा मुख्य मु्द्दा ईहे दुएटा छल...मैथिली अकादमी आओर ललित बाबू के नाम पर सड़कक नाम. मुख्यमंत्री सं भेंट करय वाला लोक में संघ के महासचिव विजय चंद्र झाजी क संग संघक कोषाध्यक्ष ललन झा, सचिव शंभुनाथ मिश्र, शीतल कांत झा आओर नंद कुमार जी शामिल छलाह. ईहो बात भेल जे एहि बारे में किछ ठोस भेला पर जल्दीए संवाददाता सम्मेलन बुलाकए सभ लोकनि के जानकारी देल जाएत. चलु एहि तरहे बीच -बीच में मुख्यमंत्री आओर दोसर मंत्री लोकनि सभ सं भेंट होएत रहत त हुनको पर एक तरहे दबाव बनल रहतन्हि आ काज सेहो जल्दी होएत.

2 टिप्‍पणियां:

  1. अहां नीक काज कs रहल छी। हमर शुभकामना स्‍वीकार करी। कहियो नीक जकां गप हएत।

    जवाब देंहटाएं

अहां अपन विचार/सुझाव एहिठाम लिखु