नवका- पुरनका लेख सर्च करु...

आनंद मोहन के सज़ा


तेरह साल पहिने...४ दिसम्बर १९९४ के बाहुबली विधायक मुन्ना शुक्ला के बड़ भाई छोटन शुक्लाक हत्या क देल गेल छल...एकर अगिला दिन ५ तारीख के मुजफ्फरपुर के खबरा में हत्याक विरोध में हजारों लोक शव लक सड़क पर उतरि गेलाह...हत्या के लक ओहि समयक लालू सरकार के खिलाफ लोक में बड़ गुस्सा छल...सरकार...प्रशासन के खिलाफ नाराबाजी करैत भीड़ आगा बढ़ि रहल छल...कि संयोग देखियौ तखने गोपालगंज के डीएम जी कृष्णैया मुजफ्फरपुर सं मीटिंग कए हाजीपुर दक लौटि रहल छलाह...भीड़क लोक सभ ई कहैत हुनकर गाड़ि पर टूटि पड़क कि छोटन शुक्ला के हत्या प्रशासनक मदद सं भेल अछि...हुनका घेर क हत्या कए देल गेल...१३ साल चलल अदालती लड़ाई के बाद फैसला आइल...सात लोक के दोषी मानल गेल...जहि में भीड़क नेतृत्व करय वाला पूर्व सांसद आनंद मोहन के फांसी के आओर हुनकर पत्नी पूर्व सांसद लवली आनंद के उम्रकैद केर सजा सुनालय गेल...बाहुबली विधायक मुन्ना शुक्ला के उम्रकैद के सजा सुनाइल गेल...फैसला के खिलाफ हाईकोर्ट में अपील कएल जा सकय अ...फांसी के सजा होय के बाद आनंद मोहन के गांव सहरसा के पंचगछिया में गमक माहौल बनि गेल...हुनका घर पर लोकक तांता लगि गेल...आसपास के इलाका में आनंद मोहन के बड़ प्रभाव छैन...हिनकर दादाजी स्वर्गीय रामबहादुर सिंह स्वतंत्रता सेनानी छलाह आओर परिवार के कई लोक आजादी के लड़ाई में भाग लेने छथिन्ह.

No comments:

Post a Comment

अहांक विचार/सुझाव...