नवका- पुरनका लेख सर्च करु...

दाई के बेटा दरोगा

दाई के बेटा दरोगा. दरभंगा... लहेरियासराय के पास बलभद्रपुर नवटोलिया के संदीप दरोगा में चुनल गेलाह अ. स्व. बहुरू राम जीक सुपुत्र संदीप बिहार कर्मचारी आयोग के अवर निरीक्षक...दरोगाक परीक्षा में एससी कोटा में दसवां स्थान प्राप्त कएला अछि. संदीपजी के मां दुर्गा नर्सिंग होम में दाई के काज करय छथिन्ह. बेटा के दरोगा बनला सं संदीपजी के माय माया देवी के जेना एकटा बड़का तपस्या सफल भs गेलन्हि अ. ओना त s संदीपजी शुरूए सं पढ़ई लिखय में तेज छलाह आओर दरोगा परीक्षा के लेल बंगाली टोला के एकटा कोचिंग संस्थान सं कोचिंग सेहो करैत छलाह. मुदा बेटा के एहि सफलता सं हुनकर सभ मनोरथ पूरा भs गेलन्हि अछि. माया देवी खुद कष्ट काटि एक-एकटा पैसा बचा संदीप के पढ़ौलन्हि अछि. संदीपजी सेहो अपन माय के निराश नहीं कएलथिन्ह अ. आब हमरा सभ के संदीपजी सं इहे उम्मीद अछि जे ओ पूरा ईमानदारी सं एहि काज के करताह आओर नाम कमौताह. एकरे संग- संग दोसर लोक सभ के लेल एकटा मिसाल सेहो बनताह.

2 comments:

  1. अच्छा प्यास है दोस्त .

    ReplyDelete
  2. हितेन्द्र जी,
    बहुत प्रेरणादायी छल ई घटना। एहिना अपन माटिक खबरि दैत रहू।
    गजेन्द्र ठाकुर
    http://www.videha.co.in/
    'विदेह' प्रथम मैथिली पाक्षिक ई पत्रिका

    ReplyDelete

अहांक विचार/सुझाव...