नवका- पुरनका लेख सर्च करु...

न्यूज़वीक मे छाएल बिहार

नीतीश कुमार जीक बिहारक गद्दी संभालए के बादहि सं राज्यक हालात बदलल अछि ई बात देशक संग-संग दुनिया सेहो मानि रहल अछि. नीतीश जीक देश–विदेशक कइटा पत्र-पत्रिका मे गुणगान भs रहल छनि. एहि सिलसिला मे ताजा कड़ी जुड़ल अछि न्यूज़वीक के. अंतर्राष्ट्रीय पत्रिका न्यूज़वीक के समाचारक दुनिया मे सम्मान के साथ नाम लेल जाएत अछि. ओहि पत्रिका के नवका अंक मे बिहार के बारे मे नीक खबर छपल अछि. नीतीश जीक खूब तारीफ कएल गेल छनि. बिहारक कहानी ‘फ्रॉम वर्स्ट टू नियर फर्स्ट’ टाइटल सं अछि.
न्यूज़वीक मे बिहारक शानदार इतिहास सं लsक अखन धरिके बारे मे बताएल गेल अछि. एहि मे लिखल गेल अछि जे बिहारक केहन शानदार इतिहास छल... ओकरा अंग्रेज फेर केंद्र सरकार के नीति, जमींदारी-सामंती प्रथा, जाति, अगड़ा-पिछड़ाक लड़ाई एकदम सं गर्त मे लs गेल. घोटाला सं लsक लूट-खसोट सभ तरहक जिक्र अछि. केना बिहारक विनाश भेल आओर ओ केना एक बेर फेर सं विकासक रास्ता पर बढ़ि रहल अछि.
पत्रिका मे नीतीश जीक बारे मे कहल गेल अछि जे ओ बिहार के चेहरा एकदम सं बदलि देलखिन्ह. जेहि बिहार के बारे मे कहल जाएत छल जे एहिठाम शासन नामक चीज नहि अछि ओहि ठाम ओ कानून-व्यवस्था कायम कs देखा देलखिन्ह. विकासक इजोत आई राज्य मे चारु कात दिख रहल अछि. हजारों किलोमीटर नवका रोड बनल... सैकड़ों नवका पुल बनल. दस तरहक विकासक काज भs रहल अछि. राज्य मे चारु कात कोनो नहि कोनो काज भs रहल अछि. एहि सं पहिने विकास के मामला मे राज्य के अंतिम पायदान पर लs जाए वाला लालू प्रसाद यादवजी जे पहिने कहय छलखिन्ह कि विकास के नाम पर कोनो चुनाव जीतल जाएत अछि...आब ओहो खुद विकासक गप करय लागलखिन्ह.
ओना एकटा गप्प नहि भूलबाक चाही जे लालूजी जखन रेल मंत्री छलखिन्ह तखन हुनको नामक खूब चर्चा होएत छलन्हि. मुदा चुनाव हारलाह के बाद हाशिया पर छथि. अहां एक ठाम बैसि पूरा राज्यक लोकक मन मे कि चलि रहल छै... से नहि जानि सकय छी. हम- अहां ऊपर-ऊपर कहैत छी जै सभ नीक भs रहल छै. मुदा कि गाम..घर... टोल मे रहय वाला सभ लोक सेहो ऐना मानय छथिन्ह?. अगर सिर्फ काज सं चुनाव जीतल जा सकैत छल तखन त नीतीश जीक जीत पक्का अछि... फेर कोनो चुनाव कराबय के जरूरते नहि. बेकार के न करोड़ों रूपया खर्च होएत. मुदा लोकतंत्र मे ऐना नहि होए छै. लोकतंत्र मे लोक के खुश होनाय बहुत जरूरी छै. नीतीश जी जे काज कs रहल छथिन्ह… ओहि सं हुनकर मतदाता खुश छनि आ नहि ई त चुनाव के बादहि पता चलत. एहनो भ s सकैत अछि जे नीतीशजी चुनाव नहि जीत पबताह. हुनका लोकक फैसला स्वीकार करय पड़तन्हि.
मुदा जे होए. नीतीशजी चुनाव जीतताह आ नहि. बिहार मे जे विकास के बयार... हवा चलि पड़ल अछि ओ जारी रहत. चाहे कोनो सरकार आबय...ओ विकास के बात... कानून-व्यवस्था... इंफ्रास्ट्रक्चर पर जोर देबय सं पाछा नहि हटि सकताह.
Share/Save/Bookmark
हमर ईमेल:-hellomithilaa@gmail.com

No comments:

Post a Comment

अहांक विचार/सुझाव...