नवका- पुरनका लेख सर्च करु...

साहित्य अकादमी छापत मिथिला मिहिर

मैथिली... मिथिलाक लेल एकटा नीक खबर अछि.  साहित्य अकादमी दिल्ली मिथिला मिहिर के 20 वॉल्यूम मे प्रकाशित करत.  ई घोषणा महाराजा कामेश्वर सिंह फाउंडेशन के ट्रस्टी डॉ हेतुकर झा कएलखिन्ह.  ई घोषणा भेल मधुबनी मे आयोजित मैथिलीक तीन साहित्यकार भुवनेश्वर सिंह 'भुवन'... लक्ष्मीपति सिंह आओर ईशनाथ झा जीक जन्मशती वार्षिकी के अंतिम दिन.  दू दिनक ई संगोष्ठी साहित्य अकादमी दिल्ली आओर मैथिली साहित्य परिषद के ओर सं आरके कॉलेज मे भेल.
    संगोष्ठी के आखिरी सत्र मे पं. गोविन्द झा...  रामदेव झा...  मोहन भारद्वाज...  महेन्द्र मलंगिया...  डा. हेतुकर झा...  फूलो पासवान आओर डा. अमरनाथ झा सहित दोसर विद्वान लोकनि ई फैसला कएलखिन्ह जे साहित्य अकादमी नई दिल्ली मिथिला मिहिर के 20 वॉल्यूम मे प्रकाशित करि सकैत अछि.  एहि के लेल अकादमी के एनओसी द देल जाएत.
   एहि संगोष्ठी के पं.चन्द्रनाथ मिश्र...  साहित्य अकादमी के उपसचिव एस. गुणशेखरन...  साहित्य अकादमी मे मैथिली परामर्श मंडल के संयोजक विद्यानाथ झा विदित...  ललित नारायण मिथिला विश्वविद्यालय के प्रति-कुलपति पद्माशा झा समेत कइटा विद्वान संबोधित कएलखिन्ह.  संगोष्ठी मे कहल गेल जे मैथिली भाषा के विकास के लेल साहित्य अकादमी जोर-शोर सं काज क रहल अछि.
    संगोष्ठी मे एहि बात पर जोर देल गेल जे एहि तरहक संगोष्टी हर साल होबाक चाही.  संगोष्ठी मे तीनु साहित्यकारक रचना...  पोथी पर आलेख पढ़ल गेल... हुनकर जीवन पर...  व्यक्तित्व... कृतित्व पर प्रकाश डालल गेल...  आओर चर्चा कएल गेल.
Bookmark and Share

1 comment:

  1. hum cha rahar chhi ki ram babu jha gana seho sunau

    amaryadav55@yahoo.in

    ReplyDelete

अहांक विचार/सुझाव...