नवका- पुरनका लेख सर्च करु...

महेन्द्र जी नहिं रहलाह...

मैथिली गायकी के एकटा नया रूप देबय वाला गायक...अभिनेता महेन्द्र झा जी आब एहि दुनिया मे नहिं रहलाह. गुरुवार 8 जनवरी के राति पटना मे ओ अंतिम सांस लेलाह. ओ 65 साल के छलखिन्ह. महेन्द्र जी काफी दिन सं बीमार छलाह. हिनकर जन्म 1944 मे मधुबनी जिलाक जमसम मे भेल छलन्हि. हिनकर अंतिम संस्कार हिनकर पैतृक गाम मे कएल गेलन्हि. मुखाग्नि हिनकर बड़का पुत्र मंटू झा देलखिन्ह.

महेन्द्रजी के बचपने सं गीत- संगीत मे बेसि रुचि छलन्हि. पटना के बीएन कॉलेज सं ग्रेजुएशन कएला के बाद संगीत सं जुड़ल सं रहला मुदा सरकारी नौकरी मे चलि गेलाह आओर 2005 मे रिटायर भेलाह. रंगमंच... फिल्म... टेलीफिल्म सभ सं जुड़ल रहलाह. सांस्कृतिक समारोह मे बढ़ि चढ़ि कs हिस्सा लेलाह. मैथिली फिल्म ममता गाबय गीत आओर बसही टोल मे महेन्द्र जी गाना गाबय के अलावा अभिनय सेहो कएलाह. हिनकर गीत सभ गाम घर मे काफी लोकप्रिय छनि. हिनकर गीत मे चंद्रमा उतरल गगन सं सभ सं लोकप्रिय अछि. महेन्द्र जी करीब 40 साल धरि गायकी ओर अभियन सं जुड़ल रहलाह. मैथिली संगीत मे सेहो जोड़ी बना एकटा नया चलन शुरू कएलखिन्ह. रवीन्द्र जी के संग हिनकर जोड़ी काफी हिट भेलन्हि. हिनका रवीन्द्र-महेन्द्र के रूप मे जानल जाय छलन्हि. मैथिली गीत संगीत के लोकप्रिय बनाबय मे हिनकर काफी योगदान रहलन्हि. जगह...जगह विद्यापति पर्व समारोह करौलखिन्ह जाहि सं लोक के मैथिली गीत संगीत के प्रति रुझान बढ़लन्हि. महेन्द्र जी दरभंगा आओर पटना रेडियो स्टेशन सं सेहो जुड़ल रहलाह. ओ मैथिलीक विकास के लेल काफी कुछ करय चाहय छलखिन्ह. हुनकर इच्छा छलन्हि जे दरभंगा... मधुबनी मे मैथिली फिल्म निर्माणक काज शुरू होय. बेसि सं बेसि लोक एहि क्षेत्र मे आबैथ. मुदा हुनकर ई इच्छा अखन धरि पूरा नहिं भेलन्हि...आशा करबाक चाही जे अगर मिथिला राज्यक बात पटरी पर आएत त हिनकर सपना सार्थक रूप लेत.

महेन्द्र जी पिछला किछ दिन सं बीमार चलि रहल छलखिन्ह आ हिनकर किडनी खराब भ गेल छलन्हि. हिनकर मृत्यु के खबर सं मैथिल लोक सभ स्तब्ध छथिन्ह. हिनकर मृत्यु के खबर सं कि बड़का...कि छोटका...नैना बुतुर सभ गोटे दुखी छथिन्ह. लोक सभ अपन- अपन शोक...संवेदना व्यक्त कs रहल छथिन्ह.


2 comments:

  1. बहुत दुखद सूचना अछि। हमरा सभक बीच सँ एक विशाल व्यक्तित्व अलोपित भऽ गेल। हमर सादर नमन दिवंगतक प्रति।

    सादर
    श्यामल सुमन
    09955373288
    मुश्किलों से भागने की अपनी फितरत है नहीं।
    कोशिशें गर दिल से हो तो जल उठेगी खुद शमां।।
    www.manoramsuman.blogspot.com

    ReplyDelete
  2. बहुत दुखद सूचना अछि। हमरा सभक बीच सँ एक विशाल व्यक्तित्व अलोपित भऽ गेल। हमर सादर नमन दिवंगतक प्रति।

    सादर
    श्यामल सुमन
    09955373288
    मुश्किलों से भागने की अपनी फितरत है नहीं।
    कोशिशें गर दिल से हो तो जल उठेगी खुद शमां।।
    www.manoramsuman.blogspot.com

    ReplyDelete

अहांक विचार/सुझाव...