नवका- पुरनका लेख सर्च करु...

पर्थ में तिरंगा


आखिर पर्थ में भारतीय तिरंगा लहरा गेल. लगातार 17 टेस्ट मैच जीतय के रिकी पोंटिंग के सपनाओहिना टूटि गेल जेना 2001 में स्टीव वॉ के कोलकाता में टूटल छल. लगातार 16 मैच जीत चुकलऑस्ट्रेलिया के विजय रथ रोकय के लेल अपन कप्तान जंबों के जवान के जतेक तारीफ कएल जायकम होयत. ऑस्ट्रेलिया के गरूर टूटि गेल. ओना भारत एहि सं पहिने वाला सिडनी टेस्ट सेहोजीतल रहति मुदा अम्पायर के कारण भारत के हार के मुंह देखय पड़ल छल.
पर्थ के पिच दुनिया के सभस तेज पिच अछि आओर ऑस्ट्रेलिया मानि के चलय छल जे एहि ठाम भारत के बल्लेबाज एक के बाद एक कए पवेलियन वापस चलि जयताह... पूरा टीम बिखड़ि जायत मुदा दुनु पारीमें भारत के बनायल रन के हुनकर बल्लेबाज पाछा नहिं कए पयलाह. ऐना भेल जे पांच दिनक मैच चारिए दिन मेंखत्म गेल. लक्ष्मण आओर राहुल द्रविड़ सात साल पहिने जेना ऑस्ट्रेलिया के लगातार जीत के राह में दीवारबनल छलाह तहिना एहि बेर फेर खाड़ गेलाह. बल्लेबाजी में सचिन तेंदुलकर के संग सहवाग...लक्ष्मणआओर राहुल द्रविड़ के महत्वपूर्ण योगदान रहल. ओना धोनी आओर आरपी सिंह सेहो नीक बल्ला भाजलाह. गेंदबाजी में आरपी सिंह... पठान आओर इशांत शर्मा के प्रदर्शन नीक रहल. मुदा सहवाग जे शुरू में दुटा विकेटलेलाह मैच में टर्निंग प्वाइंट साबित भेल.
सिडनी में जे भेल ओकरा बाद एहि जीत के महत्व आओर बढ़ि जाइत अछि. एक तरहे भारत के लेल इज्जत केमैच बनि गेल छल. आओर टीम के सभ खिलाड़ी जेना एकजुट खेललाह काबिले तारीफ अछि. ओना फेर दुटानिर्णय एहन छल जे ठीक नहिं कहल जा सकय . चलु मुदा अंत भला सभ भला. मैच में भारत पहिने दिन अपन पकड़ बनौने रहल. पहिल पारी में बढ़त फेर चारि सय सं ज्यादा के लक्ष्य. ऑस्ट्रेलिया जैसन चैंपियन के लेल भारी पड़ि गेल. कहिओ सोचलो नहिं होयताह जे हुनकर गढ़ में आबि कोई हुनका मात दय देताह.
एहि जीत के लेल अपन कप्तान जंबो अनिल कुंबले के जतेक सराहना कएल जाय कम होयत. एहन समय परकप्तानी के संभालय लेल आगां आयल छलाह जखन द्रविड़ पाछा हटि गेलाह... सचिन भार उठावय सं इनकार कएदेलाह. एहन हालात में भारत के सभस ज्यादा विकेट लेबय वाला कुंबले टीम के एकजुट
रखय में कामयाब रहला बड़का बात अछि. भारत के लेल एकटा एतिहासिक जीत अछि.


1 comment:

अहांक विचार/सुझाव...